Skip to content

अज्ञान में उपसर्ग : अज्ञान में कौन सा उपसर्ग है, अज्ञान में मूल शब्द और उपसर्ग अलग कीजिए | Agyan Mein Upsarg

अज्ञान में उपसर्ग | Agyan Me Upsarg | अज्ञान शब्द में कौन सा उपसर्ग है | अज्ञान में मूल शब्द और उपसर्ग

प्रश्न – अज्ञान में कौन सा उपसर्ग है?
उत्तर – अज्ञान में ‘अ’ उपसर्ग है।

प्रश्न – अज्ञान में मूल शब्द क्या है?
उत्तर – अज्ञान में ‘ज्ञान’ मूल शब्द है।

इस आर्टिकल में हम अज्ञान शब्द में कौन सा उपसर्ग है के साथ अज्ञान में मूल शब्द क्या है के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे।

अज्ञान में कौन सा उपसर्ग है | Agyan Mein Upsarg Kya Hai

अज्ञान में उपसर्ग है ‘अ’।

स्पष्टीकरण : अज्ञान में उपसर्ग (Agyan Me Upsarg) – ऐसे शब्द जो किसी शब्द के शुरू में यानि पहले लगकर उसका अर्थ बदल देते हैं और उसके अर्थ में विशेषता ला देते हैं, उन्हें उपसर्ग कहा जाता है।

अज्ञान‘ शब्द ‘अ’ और ‘ज्ञान’ को मिलाकर बना है। इसलिए ऊपर दी गई परिभाषा के अनुसार ‘अज्ञान‘ के शुरू में लगने वाला शब्द ‘अ’ अज्ञान का उपसर्ग होगा जबकि अज्ञान का मूल शब्द वह है, जो उपसर्ग के बाद लगा है यानि ‘ज्ञान’ इसका मूल शब्द होगा।

शब्दउपसर्गमूल शब्दउपसर्ग और मूल शब्द अलग
अज्ञानज्ञानअ + ज्ञान
AgyanAGyanA + Gyan

अज्ञान में कौन सा मूल शब्द है | Agyan Ka Mool Shabd

अज्ञान में मूल शब्द है – ‘ज्ञान’।

संबंधित जानकारी :  प्रचार में उपसर्ग क्या है | प्रचार का मूल शब्द और उपसर्ग | Prachar Me Upsarg

स्पष्टीकरण : ऊपर हमने बताया कि किसी शब्द के पहले लग कर उसका अर्थ बदलने वाले शब्द उपसर्ग (Upsarg) कहलाते हैं, जबकि जो शब्द बाद में या अंत में लगता है वो मूल शब्द होता है। दी गई परिभाषा के अनुसार ‘अज्ञान‘ शब्द के अंत में ‘ज्ञान’ लगा है, इसलिए अज्ञान का मूल शब्द ‘ज्ञान’ होगा।

शब्दमूल शब्द
अज्ञानज्ञान
AgyanGyan

अज्ञान का उपसर्ग ‘अ’ का अर्थ क्या है

यहाँ पर अज्ञान में उपसर्ग ‘अ’ है, जिसका अर्थ है – ‘अभाव’ और इसके मूल शब्द ‘ज्ञान’ का अर्थ है ‘बोध, जानना, जानकारी या विद्या’। इस प्रकार अज्ञान का अर्थ हुआ ऐसा कोई जिसके पास जानकारी या विद्या का अभाव हो। किसी चीज, वस्तु या स्थान के बारे में जानना ज्ञान होता है, जो आप नहीं जानते वह अज्ञान है।

स्कूल से लेकर कई प्रतियोगी परीक्षाओं में अज्ञान शब्द का उपसर्ग क्या है जैसे प्रश्न अक्सर पूछे जाते हैं, इसलिए आप लोगों को समझने के लिए हमने यहाँ पर उपसर्ग युक्त शब्द अज्ञान का वाक्य प्रयोग करके बताया है।

अज्ञान का वाक्य प्रयोग

  • ज्ञान का दीपक जलाकर अज्ञान रूपी अंधकार को दूर भगा सकते हैं।
  • लड़ाई झगड़ों से अच्छा है, अज्ञान बन कर जीना।
  • शिकारी इस बात से अज्ञान होता है की उसने किसी जीव की हत्या करके पाप किया है।
  • प्रिया जीवविज्ञान से पूरी तरह अज्ञान है।
  • राहुल हर बात पर अज्ञान बन कर ढोंग करता है, जबकि उसे जानकारी होती है।
  • पूनम दिल्ली जा रही है लेकिन वहाँ के बारे में वो पूरी तरह अज्ञान है।
  • सुषमा UPSC के बारे में कुछ नही जानती वो अज्ञान है।
  • जेट स्ट्रीम के बारे में पूछने पर प्रियंका अज्ञान बन गई।
संबंधित जानकारी :  प्रहार में उपसर्ग क्या है | प्रहार का मूल शब्द और उपसर्ग | Prahar Me Upsarg

परीक्षाओं में अक्सर पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण उपसर्ग युक्त शब्द पढ़िए

निष्कर्ष – अज्ञान में उपसर्ग और मूल शब्द

परीक्षाओं में अक्सर अज्ञान में उपसर्ग और अज्ञान का उपसर्ग से जुड़े कई प्रश्न पूछे जाते हैं, जैसे – “अज्ञान में कौन सा उपसर्ग है, अज्ञान में उपसर्ग क्या होगा, Agyan Me Kaun Sa Upsarg Hai, Agyan Mein Upsarg Aur Mool Shabd अलग करना”।

इस आर्टिकल में हमने आपको अज्ञान में उपसर्ग क्या है और कौन सा है के साथ अज्ञान में उपसर्ग क्या है और अज्ञान के उपसर्ग और मूल शब्द अलग कीजिए के बारे में पूरी जानकारी विस्तार पूर्वक दी है। आशा करते हैं, कि यह आर्टिकल ‘Agyan Me Kaun Sa Upsarg Hai, Agyan Ka Mool Shabd‘ आपको पसंद आएगा। इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करना ना भूलें।

Spread the love by sharing this article :-