Blog

Best Technologies for Front-End Web Development in Hindi

सोशल मीडिया में शेयर करें

Best Technologies for Front-End Web Development in Hindi : Front-End Web Development सबसे अधिक मांग वाली web development service है। इसका प्राथमिक कारण डिजाइन के पीछे आकर्षक और इंटरैक्टिव UI/UX है। सभी व्यवसाय के मालिक सफल और लागत प्रभावी फ्रंट-एंड विकास के लिए सर्वोत्तम तकनीकों की तलाश करते हैं।

Best Technologies for Front-End Web Development in Hindi

आज के समय में सभी Business ऑनलाइन आ रहे हैं, इसके लिए वो अपनी वेबसाइट और ऐप्स बनवाते हैं। इसमें सबसे ज़रूरी बात Front-End Web Development की होती है क्योंकि किसी भी वेबसाइट और ऐप्स को लोग तभी पसंद करते हैं जब उसका UI/US बेहतर, आकर्षक और इंटरैक्टिव हो। इसके लिए Front-End Web Developer की ज़रूरत पड़ती है, जो आज की डिमांड के अनुसार बेहतर डिज़ाइन बना सकते हैं।

Best Technologies for Front-End Web Development in Hindi
Best Technologies for Front-End Web Development in Hindi

इस पोस्ट में मैं उन चीजों को सूचीबद्ध करूंगा जो अभी Front-End Web Development में सबसे अच्छी हैं लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि टेक्नोलॉजी में हमेशा कोई न कोई अपडेट आता रहता है इसलिए शायद कुछ महीनों बाद ये पोस्ट थोड़ा पुराना हो सकता है। आइए जानते हैं Best Technologies for Front-End Web Development in Hindi :

Front-End Web Development के लिए सबसे Best Technologies निम्न हैं :

  • HTML और CSS
  • AngularJS
  • Flutter
  • Ionic
  • JavaScript
  • Gulp/Grunt और Webpack जैसे Development और Workflow Tools
इसे भी पढ़ें :  लोहे के बर्तन में खाना पकाने के लाभ और महत्व, आपकी रसोई के लोहे के बर्तन आपके पूरे परिवार के स्वास्थ्य का ख़्याल रख सकते हैं - Lohe ke Bartan me khana Pakane ke Labh

HTML और CSS

HTML और CSS इन दोनों में से आप HTML-5 से सीखना शुरू कर सकते हैं। HTML 5 में कई नए कॉन्सेप्ट और फ़ीचर को जोड़ा गया है जैसे – web workers, geolocation, local storage इत्यादि।

CSS सीखने के लिए आप CSS-3 से शुरू करें। इसमें ट्रांज़िशन, कस्टम ग्रिड लेआउट, मीडिया क्वेरीज़ आदि नए कॉन्सेप्ट को जोड़ा गया है। CSS प्रीप्रोसेसर जैसे Saas, Less से आप मिक्सिन, इनहेरिटेंस, ग्लोबल वेरिएबल आदि जैसे structured CSS नियमों को परिभाषित करने की अनुमति देता है।

AngularJS

AngularJS एक ओपन-सोर्स जावास्क्रिप्ट फ्रेमवर्क है, जिसे 2009 में पेश किया गया था और अब Google द्वारा इसको maintained किया जाता है। AngularJS का उपयोग single-page applications के विकास में किया जाता है जो एक ही समय में responsive और powerful होते हैं। इसके अलावा, यह एक component-based architecture है, जिससे अच्छी गुणवत्ता वाले कोड और स्मूथ टेस्टिंग सुनिश्चित की जा सकती है।

AngularJS की लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है और आपके लिए यह बेहतर है कि आप AngularJS के साथ अपना फ्रंट-एंड डेवलपमेंट शुरू करें और अपने एप्लिकेशन को फ्यूचर-प्रूफ करें। दुनिया भर की कई प्रमुख कंपनियां अब AngularJS डेवलपमेंट पर फ़ोकस करने लगी हैं।

Flutter

Flutter एक ओपन-सोर्स UI SDK है जिसे Google द्वारा क्रॉस-प्लेटफ़ॉर्म एप्लिकेशन के लिए responsive और beautiful यूज़र इंटरफ़ेस बनाने के लिए develop किया गया है। Flutter में DART भाषा का उपयोग किया जाता है।

इसके अलावा, Flutter Hot reloading की अनुमति देता है जो डेवलपर्स को बदलाव करने और इसे कुछ सेकंड के भीतर तुरंत देखने की सुविधा देता है।

इसे भी पढ़ें :  भारतीय लड़ाकू जहाज़ LCA Tejas की पहली उड़ान के 20 साल पूरे : भारत के स्वदेशी लड़ाकू कार्यक्रम के लिए अब आगे क्या?

Ionic

Ionic एक ओपन-सोर्स SDK (सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट) है जिसका उपयोग हाइब्रिड मोबाइल एप्लिकेशन के विकास के लिए किया जाता है। Ionic में SaaS-based UI framework, Angular framework और compiler होता है। Ionic एक मजबूत UI डिज़ाइन के साथ मोबाइल ऐप डेवलपमेंट को बदलने के लिए जाना जाता है।

JavaScript

जब Front-end Development की बात आती है, तो जावास्क्रिप्ट मुख्य चीज है। इसके साथ आपको jQuery सीखना चाहिए क्योंकि आज के समय में 60 प्रतिशत से ज़्यादा वेबसाइट्स jQuery का उपयोग करती हैं। इसके अलावा ES 6/7 सीखें जो नवीनतम ES standard है और इसमें MVC, observer आदि जैसे डिजाइन पैटर्न के साथ-साथ क्लास, रेड्यूसर, कैप्स आदि जोड़े गए हैं।

Gulp/Grunt और Webpack जैसे Development और Workflow Tools

Development और वर्कफ़्लो टूल जैसे gulp/grunt और webpack। अभी webpack वास्तव में काफ़ी पॉप्युलर है और आप इसे सीख सकते हैं। npm, browserify और बोवर कंपोनेंट्स भी भी आपको सीखना चाहिए।

React JS

React एक जावास्क्रिप्ट लाइब्रेरी है, जिसका उपयोग यूजर इंटरफेस के निर्माण के लिए किया जाता है। फेसबुक द्वारा विकसित React को पहली बार वर्ष 2013 में जारी किया गया था। फेसबुक द्वारा इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है (व्हाट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम इन सभी में React का उपयोग किया गया है)। React का नवीनतम स्थिर संस्करण नवंबर (v16.12) 2019 में जारी किया गया था।

Front-End Developer बनने के लिए इन बातों पर ध्यान दें

शुरू में आप basics सीखने पर फ़ोकस करें। जैसे कि यह जानने की कोशिश करें कि वेब ब्राउज़र कैसे काम करता है और आपके द्वारा भेजे गए अनुरोध का जवाब कैसे देता है। इसमें HTML और CSS आपकी मदद करेंगे। इसलिए शुरू में आपको HTML और CSS की लर्निंग में फ़ोकस करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें :  भारत की 25 कंपनियाँ इसरो के अंतरिक्ष कार्यक्रम प्रोजेक्ट IN-SPACe में शामिल होने के लिए उत्सुक हैं - ISRO IN-SPACe Project /≈ISRO Latest News

इसके बाद जब आप HTML और CSS कि मदद से वेबसाइटों बनाने में महारत हासिल कर लेते हैं, तो अब आपको उन्हें भी इंटरैक्टिव बनाना होगा। इसके लिए जावास्क्रिप्ट आपको सीखनी चाहिए। बाद में आप AngularJs और अन्य JS लाइब्रेरी का उपयोग करके वेब एप्लिकेशन के बनाने का प्रयास करें। सबसे ख़ास बात की आपको यह काम रेगुलर करना है, प्रतिदिन एक program लिखने की कोशिश करें।

निष्कर्ष – Best Technologies for Front-End Web Development

आज के समय में दिन-प्रतिदिन नई तकनीक आ रही है और प्रोग्रामर के रूप में किसी भी languages/frameworks को अपनाने में सक्षम होना चाहिए, क्योंकि languages की आवश्यकता जिसे एप्लिकेशन को विकसित करने के लिए उपयोग करना पड़ता है कभी भी बदल सकता है,

जैसा कि Angular और React फ्रंट एंड टेक्नोलॉजी है जो अब चलन में है। मैं व्यक्तिगत रूप से आपको React सीखने का सुझाव देता हूं जो आपको जावास्क्रिप्ट में मजबूत बनाएगा क्योंकि Angular 2 की तुलना में React light weight है।

इस पोस्ट में हमने आपको Best Technologies for Front-End Web Development in Hindi में बताया है। आशा करते हैं, कि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आएगी। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में ज़रूर शेयर करें।


सोशल मीडिया में शेयर करें

Leave a Reply


You cannot copy content of this page

error: Content is Protected by DMCA. आपकी गतिविधियों को हमारे एआई सिस्टम द्वारा ट्रैक किया जा रहा है। Your activities are being tracked by our AI System.