Bhasha Kise Kahate Hain – भाषा किसे कहते हैं | भाषा की परिभाषा – Bhasha ki Paribhasha

Bhasha Kise Kahate Hain : इस आर्टिकल में हम बहुत ही दिलचस्प विषय “भाषा किसे कहते हैं” के बारे में जानने वाले हैं। Bhasha Kise Kehte Hain का प्रश्न अक्सर परीक्षाओं में पूछा जाता है। इसलिए आज के इस आर्टिकल में हम भाषा की परिभाषा क्या होती है (Bhasha ki Paribhasha) के बारे में जानेंगे।

Bhasha Kise Kahate Hain | भाषा किसे कहते हैं

भाषा की परिभाषा (Bhasha ki Paribhasha) : भाषा संचार का वह साधन है, जिसके द्वारा कोई व्यक्ति अपने विचारों, कल्‍पनाओं और मनोभावों को लिखकर, बोल कर या संकेत के माध्यम से व्‍यक्त करता है, उसे ही भाषा कहा जाता है। अर्थात् सार्थक शब्दों के समूह अथवा संकेत को भाषा कहते है।

सभी जीवों की अपनी-अपनी भाषा होती है, जिससे वो अपनी प्रजाति के दूसरे जीवों से संचार करते हैं और एक-दूसरे के मनोभाव को समझते हैं। हालाँकि इस पृथ्वी में केवल मनुष्य ही संज्ञानात्मक भाषा संचार (लिखना, बोलना या संकेत को समझना) में महारत हासिल कर पाया है।

Britannica के अनुसार भाषा की परिभाषा : भाषा की कई परिभाषाएँ प्रस्तावित की गई हैं। जिनमें से कुछ प्रमुख भाषा की परिभाषा (Bhasha ki Paribhasha) इस प्रकार हैं जो कि Britannica में दी गई हैं।

#1. हेनरी स्वीट के अनुसार भाषा की परिभाषा : सार्थक शब्दों में संयुक्त भाषण-ध्वनियों के माध्यम से विचारों की अभिव्यक्ति को भाषा कहा जाता है। शब्दों को वाक्यों में संयोजित किया जाता है, यह संयोजन विचारों में विचारों का उत्तर देता है।

#2. बर्नार्ड ब्लोच और जॉर्ज एल. ट्रैगर के अनुसार Bhasha Kise Kahate Hain : भाषा मनमाने ढंग से मुखर प्रतीकों की एक प्रणाली है, जिसके माध्यम से एक सामाजिक समूह सहयोग करता है।

merriam-webster के अनुसार भाषा किसे कहते हैं : पारंपरिक संकेतों, ध्वनियों, इशारों या अर्थों को समझने वाले चिह्नों के उपयोग से विचारों या भावनाओं को संप्रेषित करने का एक व्यवस्थित साधन भाषा कहलाता है। यानि शब्द, उनका उच्चारण और उन्हें एक समुदाय द्वारा उपयोग और समझने के संयोजन के तरीके को भाषा कहते हैं।

dictionary.cambridge के अनुसार Bhasha Kise Kahate Hain : भाषा संचार की एक प्रणाली जिसमें ध्वनियाँ, शब्द और व्याकरण शामिल होते हैं। किसी विशेष देश में रहने वाले लोगों द्वारा उपयोग की जाने वाली संचार प्रणाली और जिस तरह से कोई बोलता या लिखता है, जिस तरह के शब्दों और वाक्यांशों का वे उपयोग करते हैं, उसे भाषा कहते हैं

  • भाषा इंसानी संचार का प्राथमिक साधन होती है।
  • भाषा को बोलकर, लिखकर या संकेत के द्वारा व्यक्त किया जाता है।
  • भाषा के द्वारा जीव अपने भावों का आदान-प्रदान करते हैं।
  • भाषा लोगों की मौखिक और लिखित माध्‍यम की संप्रेषण प्रणाली
  • किसी भाषा की संरचना उसका व्याकरण है और मुक्त घटक उसकी शब्दावली होती है।

आशा करते हैं कि यहाँ दी गई भाषा की परिभाषा (Bhasha ki Paribhasha) से आप समझ चुके होंगे कि भाषा किसे कहते हैं (Bhasha Kise Kahate Hain). अब हम भाषा के कुछ तथ्यों की जानकारी प्राप्त करेंगे।

भाषा को इंग्लिश में क्या कहते हैं

भाषा को English में Language कहते हैं। भाषा संचार की एक संरचित प्रणाली होती है, जिसे द्वारा एक इंसान दूसरे इंसान से अपने मन के भाव व्यक्त कर सकता है। किसी भाषा की संरचना उसका व्याकरण है और उसकी शब्दावली मुक्त घटक होते हैं। भाषाएँ जीवों के आपसी संवाद और संचार का प्राथमिक साधन होती हैं, इंसान द्वारा भाषा को भाषण, संकेत या लेखन के माध्यम से व्यक्त किया जाता है जबकि दूसरे जीव ऐसा नही कर पाते।

महत्वपूर्ण तथ्य और रोचक जानकारी

भाषा की अद्भुत दुनिया हमें विकास और संचार के अनंत अवसर प्रदान करती है और इसकी जड़ें बहुत समृद्ध इतिहास में हैं। 50 हज़ार से 1,50,000 साल पहले आधुनिक होमो सेपियन्स के समय में भाषा पहली बार विकसित हुई थी और तब से लेकर आज तक में पूरी दुनिया में 7,000 से अधिक विभिन्न बोली जाने वाली भाषाएँ स्थापित हो चुकी हैं।

भाषाओं की यह विशाल दुनिया भी बहुत ही मजेदार और दिलचस्प तथ्यों से भरी हुई है। भाषा किसे कहते हैं और भाषा की परिभाषा क्या है से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ यहाँ पर दी गई हैं।

  • दुनिया की सभी भाषाएँ सार्थक ध्वनियों के मिलने से बनती हैं।
  • इंसान अपने विचारों को व्यक्त कर वाचिक ध्वनियों का प्रयोग करते हैं। इसीलिए भाषा को वैचारिक आदान-प्रदान का मुख्य माध्यम माना जाता है।
  • विचारों का आदान-प्रदान केवल भाषा के माध्यम से ही किया जा सकता है।
  • दुनिया में एक ऐसी भाषा है, जो केवल 8 लोगों द्वारा बोली जाती है : अवर्गीकृत बसु (Busuu) भाषा कैमरून के दक्षिणी बैंटोइड में केवल आठ लोगों द्वारा बोली जाती है। 1986 की जाँच में इस भाषा के केवल 8 वक्ता थे जबकि 2005 में केवल 3 ही बचे हैं, जिससे यह एक लुप्तप्राय भाषा बन गई है।
  • अंग्रेजी 7,50,000 शब्दों के साथ सबसे अधिक शब्दों वाली भाषा है। इस भाषा में हर वर्ष लगभग 5400 नए शब्द बनाए जाते हैं, हालांकि इनमें से केवल एक हजार को ही आम जनता की शब्दावली में शामिल किया जाता है।
  • विलियम शेक्सपियर ने 1700 शब्दों का आविष्कार किया उन्होंने संज्ञा को क्रिया में बदलने, क्रिया से विशेषण, शब्दों के संयोजन, उपसर्गों और प्रत्ययों को जोड़ने के साथ-साथ सीधे नए शब्दों का आविष्कार करके ऐसा किया।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका में अंग्रेजी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है, हालाँकि आपको जानकर हैरानी होगी कि अमेरिका की कोई आधिकारिक भाषा नहीं है। इस देश में 300 से अधिक भाषाएँ बोली जाती हैं, जो इसे सांस्कृतिक और भाषाई रूप से विविध देश बनाती है।
  • एक से अधिक भाषा बोलने से कई लाभ मिलते हैं, जिनमें से एक यह है कि यह आपके मस्तिष्क को स्मार्ट बना सकता है। दूसरी भाषा सीखना मस्तिष्क की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को भी धीमा कर सकता है।
  • केवल 12 अक्षरों वाली एक भाषा है : पापुआ न्यू गिनी के पास, बोगनविले द्वीप पर लोग, केवल 12 अक्षरों वाली भाषा बोलते हैं।
  • दुनिया के हर देश में अंग्रेजी और फ्रेंच पढ़ाई जाती है, इसके बावजूद चाइनीज मंदारिन भाषा दुनिया की सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने आपको भाषा की परिभाषा (Bhasha ki Paribhasha) के बारे में विस्तार से जानकारी दी है, जिससे की आप आसानी से समझ सकें कि भाषा किसे कहते हैं (Bhasha Kise Kahate Hain). आशा है कि Career Alert का यह आर्टिकल आपको पसंद आएगा।