क्या आप जानते हैं? – आपकी रसोई में लोहे की कढ़ाइयाँ, कर्छियाँ और अन्य सभी लोहे के बर्तन होते हैं। लोहे के बर्तन न केवल छड़ी के विकल्प की तुलना में आपके स्वास्थ्यवर्धक खाना पकाते हैं, बल्कि यह आपके दैनिक सेवन में भी शामिल होते हैं। और आपके शरीर में लोहे की कमी और एनीमिया से पीड़ित लोगों की मदद कर सकते हैं।

lohe ke bartan me khana pakane ke labh
lohe ke bartan me khana pakane ke labh

लोहे के बर्तन में खाना पकाने के महत्व पर बात करते हुए पोषण विशेषज्ञ ने यह जानकारी दी। पोषण विशेषज्ञ अपने फिटनेस प्रोजेक्ट-2021 के पहले सप्ताह को लोहे के बर्तन को समर्पित करते है और उन्हें आपकी रसोई में वापसी करने की आवश्यकता पर बात करते हैं।

लोहे के बर्तनों का आपकी रसोई में होना क्यों ज़रूरी है?

इस साल हमारी ज़िंदगी में जितने भी बदलाव हो रहे हैं, उसके लिए कोरोना महामारी ज़िम्मेदार है। नींद कम आना, वज़न बढ़ने से लेकर हमारी शारीरिक ऊर्जा में बदलाव ऐसे कई बातें हैं, जो इस कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन की वजह से हमारी ज़िंदगी को प्रभावित करने लगी हैं।

इन सबका परिणाम यह है कि हम अपनी उम्र से अधिक उम्र के दिखने लगे हैं। दूसरी ओर, आठ या नौ साल की उम्र के बच्चे अब भूरे बाल रखने लगे हैं। बांझपन के मुद्दे, पीसीओएस और थायरॉयड ऐसी बीमारियां हैं जो पिछले 10 वर्षों में व्यापक रूप से आम हो गई हैं।

इन सबके लिए एक सामान्य कारक है, जो इन सभी स्थितियों के लिए जिम्मेदार है। वह है सूक्ष्म पोषक तत्वों की हमारे शरीर में कमी होना और इससे भी महत्वपूर्ण बात, शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी है। हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी की वजह से आज कल ज़्यादातर बीमारियाँ हो रही हैं।

अब हम बात करते हैं – लोहे के बर्तन में खाना पकाने की। हमारे शरीर में सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने का एक प्राकृतिक तरीका है – लोहे के बर्तन में खाना पकाना। इससे हमारे शरीर में ऑक्सीजन के स्तर में भी सुधार होता है, जिससे स्वाभाविक रूप से हमारे रक्त में हीमोग्लोबिन में वृद्धि होती है।

लोहे के बर्तन में खाना क्यों पकाना चाहिए? /≈Lohe Ke Bartan me Khana Kyo Pakana Chahiye?

लोहे के बर्तन में खाना पकाने से, लोहे बर्तन में मौजूद आयरन हमारे खाने में मिल जाता है, जो भोजन के ज़रिए हमारे शरीर में पहुँचता है और हमारे शरीर में आयरन की कमी दूर करने के साथ हीमोग्लोबिन का सामान्य स्तर बनाए रखने में मदद करता है। लोहे के बर्तन में खाना पकाने से हमारे शरीर में एनीमिया, हीमोग्लोबिन की कमी, बालों का झड़ना, शरीर की कमज़ोरी, कम उम्र में अधिक उम्र का दिखने जैसे समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है।

लोहे के बर्तन में खाना पकाने के लाभ //≈Lohe ke Bartan me Khana Pakane ke Labh

लोहे के बर्तनों में खाना पकाने के कई लाभ है, जिनके बारे में नीचे जानकारी दी गई है.

  • शरीर में हीमोग्लोबिन (Hb) का स्तर सामान्य होने से मस्तिष्क और शरीर को ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति में मदद मिलती है।
  • हीमोग्लोबिन (Hb) का स्तर कम होने के अगर आप कसरत भी करेंगे, तो उसका परिणाम आपको नही मिलेगा।
  • हीमोग्लोबिन (Hb) का स्तर कम होने से आप कमज़ोर महसूस करेंगे। Hb का स्तर कम होना आपके मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों से भी जुड़ा हुआ है।
  • अगर कोई महिला इनविट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) की योजना बना रहीं हैं या महिला में इरिटेबल आंत्र सिंड्रोम, मधुमेह या पीसीओडी है, तो उनके लिए हीमोग्लोबिन (Hb) का स्तर सामान्य होना बहुत ज़रूरी होता है।
  • अगर आपके शरीर में हीमोग्लोबिन (Hb) का स्तर सामान्य है, तो इससे बालों के झड़ने की समस्या रुक सकती है और आपको घने और चमकदार बाल रखने में मदद कर सकता है।

निष्कर्ष : लोहे के बर्तन में खाना क्यों पकाएँ

इस पोस्ट से हमने आपको यह बताने की कोशिश की है की लोहे के बर्तन में खाना पकाना कितना ज़रूरी है। तो अब आप अपनी किचन में लोहे की कढ़ाही में सब्ज़ियाँ बनाएँ, रोटियाँ बनाने के लिए लोहे की तवा का उपयोग करें और खाना पकाने के लिए लोहे की करछी का उपयोग करें। मुंबई स्थित पोषण विशेषज्ञ बताते हैं, लोहे के बर्तन में पकाए जाने वाले भोजन में आयरन अपने आप जुड़ जाता है, जिससे हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन (Hb) का स्तर सामान्य बना रहता है।

लोहे के बर्तन आपकी रसोई में पहले से ही होने की संभावना है। सुनिश्चित करें कि आप खाना बनाने के लिए लोहे के बरतनों का उपयोग करें और बर्तन के सही आकार का उपयोग करें। इस काम के लिए आपको अलग-अलग आकार की कड़ाही या कुकर की आवश्यकता हो सकती है।