छोड़कर सामग्री पर जाएँ

Patwari Kaise Bane : पटवारी कैसे बनें, योग्यता, चयन प्रक्रिया, वेतन, कोर्स, एग्जाम पैटर्न

    Patwari Kaise Bane : बहुत सारे स्टूडेंट ये पूछते हैं कि पटवारी कैसे बनें इसलिए हमने यहाँ पर इसके बारे में विस्तार से बताया है ताकि आपको लोगों को ‘Patwari Kaise Bane‘ की सही जानकारी मिल सके। यहाँ पर हम निम्न टॉपिक पर बात करेंगे और विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे –

    • Patwari Kaise Bane (पटवारी कैसे बनें)
    • पटवारी का वेतन (सैलरी)
    • पटवारी की जानकारी
    • पटवारी कोर्स
    • मध्य प्रदेश पटवारी योग्यता
    • patwari ke liye yogyata
    • rajasthan patwari ki taiyari kaise kare
    • patwari work in hindi
    • पटवारी की परीक्षा पास करने के लिए कितने नंबर लाने पड़ते हैं?
    • पटवारी की कितनी परीक्षा होती है?
    • पटवारी परीक्षा की तैयारी कैसे करें?
    • एमपी पटवारी कैसे बने
    • राजस्थान पटवारी कैसे बने
    • MP पटवारी के लिए योग्यता
    • CG पटवारी की जानकारी
    • पटवारी के लिए योग्यता 2022
    • पटवारी के लिए योग्यता 2022 MP

    आज के इस आर्टिकल में हम सभी राज्यों जैसे – ‘बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, दिल्ली, झारखंड, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, चण्डीगढ़ (केन्द्र शासित प्रदेश) और हरियाणा‘ में पटवारी कैसे बने की पूरी प्रक्रिया की जानकारी देने वाले हैं।

    पटवारी कैसे बने | Patwari Kaise Bane

    सभी राज्यों में पटवारी चयन के लिए लगभग एक जैसी ही प्रक्रिया का पालन किया जाता है। इसलिए यहाँ दी गई जानकारी सभी राज्यों के लिए है, जिनमें से कुछ राज्यों के नाम हैं – Madhya Pradesh (MP), छत्तीसगढ़ (CG), राजस्थान (RJ). आइए जानते हैं, पटवारी चयन की पूरी प्रक्रिया :

    Patwari बनने के लिए 12वीं पास करें।

    पटवारी बनने के लिए सबसे पहला काम है, सरकारी मान्यता प्राप्त किसी स्कूल से 12वीं पास करना। 10वीं क्लास के बाद आप किसी भी स्ट्रीम से 11वीं और 12वीं पास कर सकते हैं।

    पटवारी बनने के लिए कॉलेज से ग्रेजुएशन पूरी करें।

    12वीं कक्षा पास करने के बाद किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से किसी भी स्ट्रीम में स्नातक (ग्रेजुएशन) की पढ़ाई पूरी करें।

    कंप्यूटर कोर्स करें

    जैसे जैसे डिजिटल इंडिया का सपना पूरा हो रहा है, तो हम सभी सरकारी कार्यालयों में भी कम्प्यूटर से काम होने लगे हैं। इसलिए कई राज्य अब पटवारी में चयन के लिए उम्मीदवारों से कंप्यूटर सर्टिफ़िकेट माँगते हैं। इसलिए कॉलेज से स्नातक (ग्रेजुएशन) की पढ़ाई पूरी करने के साथ या बाद में कम से कम आपको बेसिक कंप्यूटर कोर्स करना होगा। क्योंकि पटवारी के लिए कंप्यूटर डिप्लोमा अब जरूरी हो गया है।

    यहाँ दें कि अगर आपने किसी कम्प्यूटर कोर्स जैसे – BCA, BSc Computer Science, BE से स्नातक (ग्रेजुएशन) पूरा किया है, फिर आपको कंप्यूटर डिप्लोमा की आवश्यकता नहीं होगी। इसके साथ ही कई राज्यों में कुछ और स्किल जैसे – टाइपिंग इत्यादि की भी ज़रूरत पड़ती है, इसलिए आप जिस राज्य के लिए अप्लाई करने की सोच रहे हैं, वहाँ के लिए अधिकारिक योग्यता देख लें।

    संबंधित जानकारी :  Career Advice FAQs - If you want to make a career in civil service and espionage then read this advice

    पटवारी की एग्जाम की तैयारी करें

    अगर आप पटवारी चयन की सभी जरुरी योग्यताओं को पूरा करते हैं, तो अब आपको राज्यों द्वारा आयोजित की जाने वाली Patwari Selection Exam की तैयारी करनी होगी। यहाँ आपको ध्यान रखना चाहिए की पटवारी पद के लिए लाखों उम्मीदवार आवेदन करते हैं, इसलिए उन्हीं का सिलेक्शन होता है जिसकी तैयारी अच्छी होती है और जिनका नाम मेरिट लिस्ट में आता है। पटवारी बनने की तैयारी करने के लिए आप किसी कोचिंग की भी मदद ले सकते हैं।

    Patwari Exam के लिए आवेदन करें

    तैयारी के बाद जब राज्य द्वारा Patwari Vacancy निकाली जाए उस समय अधिकारी वेबसाइट से पटवारी परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन करें। फ़ॉर्म भरने के साथ अपि तैयारी करते रहें।

    पटवारी के लिए एग्जाम दें

    फॉर्म भरने के कुछ समय बाद परीक्षा आयोजित की जाएगी जो एक लिखित परीक्षा होगी। पटवारी लिखित परीक्षा का पेपर 100 अंकों का होता है, जो कंप्यूटर आधारित होता है। इसमें बहु-विकल्पीय प्रश्न भी पूछे जाते हैं। पटवारी चयन परीक्षा का पेपर हिंदी, गणित, तर्क, सामान्य ज्ञान, पंचायती राज, कंप्यूटर सहित कुल 5 विषयों या वर्गों में बांटा गया है। इसे हल करने के लिए उम्मीदवारों को 2 घंटे का समय दिया जाता है।

    Interview पास करें

    रिज़ल्ट आने के बाद अगर आपका नाम मेरिट लिस्ट में हैं, तो फिर आप डॉक्युमेंट वेरिफ़िकेशन करवाने के बाद इंटरव्यू में शामिल हो और पूछे गए सवालों के सही से जवाब दें। अगर आप इंटरव्यू क्लीयर कर लेते हैं, तो फिर आपका पटवारी पद पर चयन पक्का हो जाता है।

    प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हों

    पटवारी पद पर चयन पक्का होने के बाद आपको प्रशिक्षण के लिए बुलाया जाएगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हों ताकि आप सीख सकें कि एक Patwari का क्या काम होता है और वो कैसे अपने आवंटित क्षेत्र (तहसील) में काम करता है।

    पटवारी का पद सम्भालें

    प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरा होने के बाद उम्मीदवार को नियुक्ति पत्र प्रदान कर दिया जाता है। नियुक्ति पत्र मिलने के बाद आप अपने लिए आवंटित क्षेत्र में पटवारी के पद पर कार्यग्रहण करें।

    इस तरह ऊपर बताए गए 9 स्टेप्स को फ़ॉलो करके पटवारी बन सकते हैं। हमें उम्मीद है कि Patwari Kaise Bane यानि पटवारी कैसे बनते हैं और पटवारी चयन की प्रक्रिया क्या है की पूरी जानकारी आपको मिल चुकी होगी।

    पटवारी कैसे बने और पटवारी में सिलेक्शन कैसे होता है, जानिए पूरी पटवारी चयन प्रक्रिया आसान भाषा में।

    पटवारी में सिलेक्शन कैसे होता है और पटवारी कैसे बने

    पटवारी एक सरकारी अधिकारी होता है, जो देश के ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि के स्वामित्व के संबंध में रिकॉर्ड रखता है। पटवारी बनने के लिए क्या करना होगा? आइए जानते हैं :

    कुछ समय पहले तक पटवारी बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता 12वीं पास थी। हालाँकि अब पटवारी बनने के लिए उम्मीदवारों के पास कंप्यूटर ज्ञान के साथ किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री होना आवश्यक है।

    इसके अलावा हिंदी टाइपिंग और कंप्यूटर प्रवीणता के साथ सीपीसीटी स्कोरकार्ड होना भी अनिवार्य है।

    यदि किसी उम्मीदवार के पास सीपीसीटी स्कोरकार्ड नहीं है, तो वह परीक्षा में चयनित होने के 2 साल के भीतर इसे जमा कर सकता है।

    उम्मीदवार की आयु सीमा कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 38 वर्ष होनी चाहिए।

    पटवारी का पद दो प्रकार का होता है –

    1. राजस्व पटवारी
    2. चकबंदी पटवारी
    संबंधित जानकारी :  What is ParaMedical? How to make a Career in Para Medical? Para Medical Career Guide, Para Medical Career Tips

    पटवारी बनने के लिए परीक्षा और साक्षात्कार

    पटवारी बनने के लिए उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा और साक्षात्कार से गुजरना पड़ता है। परीक्षा 100 अंकों की होती है, जिसमें वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके लिए उम्मीदवारों को 90 मिनट का समय दिया जाता है।

    लिखित परीक्षा में 5 विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसमें – सामान्य ज्ञान, मात्रात्मक योग्यता, हिंदी भाषा, ग्राम अर्थव्यवस्था और पंचायत प्रणाली और कंप्यूटर शामिल हैं।

    पटवारी चयन प्रक्रिया क्या है

    उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा और साक्षात्कार दोनों की तैयारी करनी होती है क्योंकि पटवारी के पद के लिए चयन और नियुक्ति, लिखित परीक्षा और साक्षात्कार दोनों में प्राप्त अंकों के आधार पर निकाली जाने वाली मेरिट लिस्ट से होता है।

    योग्य उम्मीदवारों को अंतिम नियुक्ति से पहले प्रशिक्षण से गुजरना होता है, जिसके बाद उन्हें पटवारी के पद पर तैनात किया जाता है।

    पटवारी भर्ती परीक्षा की चयन सूची 3 वर्ष के लिए वैध मानी जाती है और हर साल राज्य में वेंकसी की उपलब्धता के अनुसार समय-समय पर चयनित उम्मीदवारों को पटवारी पदों पर नियुक्ति की जाती है।

    पटवारी तहसील के अंतर्गत राजस्व विभाग का अधिकारी होता है। पटवारियों की नियुक्ति गांवों के लिए जाती है, ताकि वो अपने आधीन आने वाले गावों में जमीन-जायदाद से जुड़े काम देख सकें और लोगों की मदद कर सकें। पटवारी के अंतर्गत एक या एक से अधिक ग्राम पंचायतें आती हैं।

    पटवारी राजस्व विभाग के एक ऐसे सरकारी अधिकारी हैं, जो ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि की माप, खरीद-बिक्री से संबंधित कार्यों के साथ-साथ आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, निवासी प्रमाण पत्र बनाने से संबंधित कार्य करता है और इनका रिकार्ड रखता है। अगर आप भी पटवारी बनना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में मैंने पटवारी बनने की पूरी जानकारी हिंदी में साझा की है। आइए जानते हैं –

    Patwari Kaise Bane (पटवारी कैसे बने)

    पटवारी बनने के लिए उम्मीदवार का भारत के किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से 12वीं पास होना अनिवार्य है, साथ ही उम्मीदवार के पास किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त संस्थान से 1 साल का कंप्यूटर डिप्लोमा होना जरूरी है।

    अब तो कई राज्यों में पटवारी पद पर नियुक्ति के लिए ग्रेजुएशन जरूरी हो गया है, कई राज्य ऐसे हैं जो बिना ग्रेजुएशन के पटवारी भर्ती में उम्मीदवार को शामिल नही होने देते। हर राज्य में पटवारी के पद के लिए चयन एक विशेष परीक्षा के माध्यम से किया जाता है। यह परीक्षा कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन मोड में लिखित आयोजित की जाती है।

    लिखित परीक्षा में 5 खंड होते हैं – सामान्य ज्ञान, मात्रात्मक योग्यता, हिंदी, पंचायती राज प्रणाली और कंप्यूटर। परीक्षा का पूरा पेपर 100 अंकों का होता है।

    लिखित परीक्षा में उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त अंकों के आधार पर एक मेरिट सूची तैयार की जाती है और फिर रिज़ल्ट और इस मेरिट सूची को राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित किया जाता है। जिन उम्मीदवारों का नाम राज्य की मेरिट सूची में आता है, उन्हें दस्तावेज सत्यापन और इंटरव्यू के लिए जाना होता है।

    इंटरव्यू पास करने के बाद उम्मीदवार को प्रशिक्षण के लिए भेजा जाता है। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद उम्मीदवार को पटवारी के पद पर किसी तहसील में नियुक्ति दी जाती है और उस तहसील (तालुक़ा) के अंतर्गत आने वाले कुछ गावों के जमीन-जायदाद से जुड़े काम-काज दिए जाते हैं। इस तरह कोई भी व्यक्ति ज़रूरी योग्यता को पूरा करके पटवारी बन सकता है।

    संबंधित जानकारी :  Exam Time? How to prepare yourself, How to make your exam preparation easy? Exam Tips

    आशा करते हैं कि मेरे द्वारा यहाँ दी गई जानकारी से आप समझ गए होंगें की Patwari Kaise Bane (पटवारी कैसे बने)। हालाँकि आप इस विचार-विमर्श में दिए गए बाकि उत्तरों को भी पढ़ें, ताकि आपको विस्तार से पूरी जानकारी मिल सके।

    पटवारी कैसे बनते हैं (Patwari Kaise Bante Hain)

    नमस्कार दोस्तों, मैं शिवानी मिश्रा आप सभी को आज बताने वाली हूँ कि पटवारी कैसे बनते हैं (Patwari Kaise Bante Hain) और इसके लिए कौन से Exam पास करने पड़ते हैं और पटवारी बनने के लिए क्या करना चाहिए साथ ही पटवारी की चयन प्रक्रिया क्या है। इन सभी के बारे में सही जानकारी हिंदी में पढ़िए।

    आजकल सरकारी नौकरी करना हर किसी का सपना होता है। अगर आप Patwari बनना चाहते हैं, तो आपके लिए यह जरूरी है कि आप इसके लिए लगन और धैर्य के साथ कड़ी मेहनत करें इससे आपको सफलता मिल सकती है।

    पटवारी की चयन प्रक्रिया

    पटवारी की चयन प्रक्रिया में शामिल होने से पहले आपको ये जानना जरुरी है कि अगर आप पटवारी बनाना चाहते हैं, तो आपकी आयु न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 38 वर्ष होनी चाहिए। साथ ही आपको किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल से 12वीं पास होना चाहिए और कम्प्यूटर डिप्लोमा (RS-CIT) भी आपके पास होना चाहिए। तभी आप पटवारी पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

    पटवारी पद के लिए चयन प्रक्रिया 2 स्तर पर होती है और इन 2 स्तरों में जिन उम्मीदवारों का नाम मेरिट लिस्ट में आता है वो ही पटवारी बन सकते हैं। ये हैं 2 स्तर –

    • लिखित परीक्षा (Written Exam)
    • साक्षात्कार (Interview)

    पटवारी बनने के लिए सभी राज्यों में पहले लिखित परीक्षा आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में भाग लेने वाले उम्मीदवार का नाम अगर मेरिट लिस्ट में आता है, तो उन्हें दस्तावेज सत्यापन के बाद साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। interview में उम्मीदवारों से सरकारी अधिकारियों द्वारा कुछ प्रश्न पूछे जाते हैं।

    Interview के बाद Patwari पद के लिए सेलेक्ट होने वाले उम्मीदवारों की लिस्ट निकाली जाती है। जिन लोगों का नाम इस मेरिट लिस्ट में होता है, उन्हें कुछ समय के प्रशिक्षण के लिए बुलाया जाता है। प्रशिक्षण पूरा करने के बाद उम्मीदवार का चयन पटवारी के पद के लिए किया जाता है और उसकी नियुक्ति राज्य के किसी जिला की तहसील में की जाती है।

    इस तरह अगर आप पटवारी बनना चाहते हैं, तो सबसे पहले लिखित परीक्षा पास करके मेरिट लिस्ट में आना होगा उसके बाद डॉक्युमेंट सत्यापन करवा कर Interview पास करना होगा। तब आप पटवारी बन सकते हैं और पटवारी की नौकरी पा सकते हैं।

    Spread the love by sharing this article :-

    Content is protected by the DMCA.