छोड़कर सामग्री पर जाएँ

15 अगस्त 1947 को देश की आबादी कितनी थी : Population of India in 1947

    15 अगस्त 1947 को देश की आबादी कितनी थी (15th August 1947 India Population) : 15 अगस्त 1947 के दिन भारत को ब्रिटिश हुकूमत से आज़ादी मिली थी, जिसके बाद भारत ब्रिटिश उपनिवेश से मुक्त होकर दुनिया का एक संप्रभु और स्वतंत्र राष्ट्र बना था. भारत के कई लोग 15 अगस्त 1947 को देश की आबादी कितनी थी के बारे में जानना चाहते हैं.

    आप सभी लोगों कि जानकारी के लिए यहाँ हमने Population of India in 1947 के बारे में पूरी जानकारी दी है. इस आर्टिकल में भारत की जनसंख्या से जुड़े कई जवाब मिल जाएँगे जैसे – 15 अगस्त 1947 को देश की आबादी कितनी थी, India Population 1947 in Crores के साथ Religion Wise, Hindu And Muslim की जनसंख्या कितनी थी इत्यादि के बारे में यहाँ पर पूरी जानकारी दी गई है।

    15 अगस्त 1947 को देश की आबादी कितनी थी

    पाकिस्तान के अलग राष्ट्र बनने से पहले संयुक्त भारत की आबादी 39 करोड़ थी। यानि भारत का विभाजन होने से पहले 1947 में भारत की कुल जनसंख्या 39 करोड़ थी। जबकि 15 अगस्त 1947 को विभाजन के बाद भारत की जनसंख्या 33 करोड़ थी।

    भारत का विभाजन होने के बाद 3 करोड़ की आबादी नए बने पाकिस्तान और 3 करोड़ की आबादी बांग्लादेश में रह रही थी (बांग्लादेश को उस समय पूर्वी पाकिस्तान के नाम से जाना जाता था)।

    15th August 1947 India Population Graph
    15th August 1947 India Population Graph

    विभाजन के समय के भारतीय आंकड़ों के अनुसार 72,95,870 हिंदू और सिख पाकिस्तान छोड़कर भारत चले गए थे, वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान में दिखाए गए आंकड़ों के अनुसार 72,26,600 हिंदू और सिख पाकिस्तान छोड़कर भारत चले गए. इसके साथ ही मुस्लिम धर्म (Muslim Regilion) के लगभग 1.45 करोड़ लोग भारत से पाकिस्तान गए थे।

    इसी वजह से 1947 में विभाजन के पहले और 15 अगस्त 1947 की भारत की आबादी में इतना बड़ा परिवर्तन देखने को मिलता है. भारत के विभाजन से पहले यहाँ की जनसंख्या 39 करोड़ थी जबकि बंटवारे के दौरान हुए विस्थापन से 15 अगस्त 1947 को भारत की आबादी 33 करोड़ हो गई थी.

    Population of India in 1947 Religion Wise

    धर्म के आधार पर 1947 की भारत की जनसंख्या का आँकड़ा नीचे दिया गया है। Population of India in 1947 Religion Wise given below :-

    According to India’s religion population data 1947 – Hinduism was the majority religion in India with 84% followers. Islam was the second most popular religion, with about 10% of the people following it. In 1947 India was inhabited by 2.2% Christians, 1.83% Sikhism and 1.97% other religions.

    संबंधित जानकारी :  15 अगस्त 1947 को कौन सा दिन था (15 August 1947 Ko Kaun Sa Din Tha)
    ReligionPopulationPercentage
    Hindu27,72,00,00084%
    Muslim3,30,00,00010%
    Christian72,60,0002.2%
    Sikh60,39,0001.83%
    others65,01,0001.97%
    Population of India in 1947 Religion Wise

    India Population 1947 in Crores

    धर्म के आधार पर जनसंख्या 1947 के अनुसार – भारत में 84% अनुयायियों के साथ हिंदू धर्म बहुसंख्यक धर्म था। इस्लाम दूसरा सबसे लोकप्रिय धर्म था, जिसके लगभग 10% अनुयायी थे। इसके अलावा 1947 में में भारत में ईसाई धर्म के 2.2%, सिख धर्म के 1.83% और अन्य धर्म के 1.97% लोग निवास करते थे।

    India Population 1947 in Crores : In 1947, 27 crore 72 lakh Hindus lived in India, while the population of Muslim religion was 3 crore 30 lakh. Apart from this, 72 lakh 60 thousand Christians, 60 lakh 39 thousand Sikhs and 65 lakh 01 thousand people of other religions lived in India.

    ReligionPopulationहिंदी (Crores)
    Hindu27,72,00,00027 करोड़ 72 लाख
    Muslim3,30,00,0003 करोड़ 30 लाख
    Christian72,60,00072 लाख 60 हज़ार
    Sikh60,39,00060 लाख 39 हज़ार
    others65,01,00065 लाख 01 हज़ार
    Population of India in 1947 Religion Wise

    अगर आप India Population 1947 in Crores में खोज रहे हैं, तो ऊपर दी गई टेबल में 1947 में भारत की आबादी करोड़ में दी गई है। 1947 में भारत में 27 करोड़ 72 लाख हिंदू धर्म के लोग रहते थे जबकि मुस्लिम धर्म को मानने वाली की जनसंख्या 3 करोड़ 30 लाख थी। इसके अलावा ईसाई धर्म के 72 लाख 60 हज़ार, सिख धर्म के 60 लाख 39 हज़ार और अन्य धर्मों के 65 लाख 01 हज़ार लोग निवास करते थे।

    1947 India Population Hindu

    भारत में भी वर्तमान समय में हिंदू धर्म की आबादी सबसे ज़्यादा है। 1947 में विभाजन के बाद देश में हिंदू आबादी यहाँ की कुल जनसंख्या का लगभग 84% थी, जो कि वर्तमान लगभग 79.8% हो चुकी है। 15 अगस्त 1947 में किसी भी प्रकार की जनगणना नहीं की गई थी, तो उस समय की भारत की हिंदू आबादी का सटीक आंकड़े प्राप्त करना बहुत मुश्किल है, यह पूरी रिपोर्ट समाचारों, पुराने लेखों और आंकड़ों के आधार पर बनाई गई है, जो अनुमानित है लेकिन कुछ मायनों में सटीक भी है।

    1947 India Population Hindu – 277.2 Million (84%)

    Hinduism is the largest religion in India. According to the 1947 Population data, 277.2 Million people identify as Hindu, representing 84% of the country’s population. India contains 94% of the global Hindu population.

    ReligionHindu
    Year1947
    Total Population277.2 Million
    Percentage84%
    1947 India Population Hindu

    1947 को भारत की जनसंख्या और साम्प्रदायिक दंगें

    15 August 1947 को जब भारत का विभाजन हुआ और नए मुस्लिम देश पाकिस्तान का गठन किया गया था, तो पहली बार इस भारतीय महाद्वीप में कुछ ऐसा हुआ जिसका अंदाजा नवगठित सरकारों को भी नहीं था। बंटवारे के दौरान देश में हिंदू-मुस्लिम साम्प्रदायिक दंगें हुए थे। इन साम्प्रदायिक दंगों की वजह से पाकिस्तान में रहने वाले और विस्थापित कर रहे लाखों हिंदू और सिखों की हत्याएँ की गई थी। इसी के विरोध में भारत में भी मुस्लिमों की हत्याएं होने लगीं थी।

    विभाजन के समय 1947 में हुए इन साम्प्रदायिक दंगों का अंदाजा किसी को भी नहीं था। इन दंगों में जितनी भी मौतें हुई उनका आंकड़ा अनुमानित है, जिसके अनुसार मरने वालों की संख्या 2 लाख से 20 लाख के बीच कुछ भी हो सकती है।

    संबंधित जानकारी :  Bharat Hindi : भारत देश के बारे में जानकारी हिंदी में | Bharat Desh Ke Bare Mein Jankari Hindi Mein

    भारत की पहली जनगणना 1951 के अनुसार जनसंख्या (India Population In 1951 in Crores)

    स्वतंत्र भारत की पहली जनगणना 1951 में हुई थी, जो 1871 में ब्रिटिश हुकूमत द्वारा की गई जनगणना के बाद भारत की 9वीं और स्वतंत्र भारत की पहली जनगणना थी। 1951 की जनगणना के परिणाम काफी चौंकाने वाले थे।

    1951 में भारत की जनसंख्या 36,10,88,090 थी, जो 1947 की जनसंख्या के आंकड़ों से 3 करोड़ अधिक थी। 15 अगस्त 1947 के बाद भारत की आबादी में मात्र चार वर्षों में ही 3 करोड़ जनसंख्या की बढ़ोतरी हो गई थी।

    इसका कारण भारत का विभाजन हो सकता है क्योंकि विभाजन के बाद आबादी के विस्थापन की प्रक्रिया 1947 के बाद लंबे समय तक चलती रही, जिसकी वजह से 1951 में हुई भारत आबादी में काफी वृद्धि देखी गई थी।

    India Population 1947 Muslim

    भारत में भी वर्तमान समय में मुस्लिम आबादी सबसे तेजी से बढ़ने वाली आबादी है। 1947 में विभाजन के बाद देश में मुस्लिम आबादी जो लगभग 10% थी, वर्तमान भारत में मुस्लिम आबादी लगभग 15% हो चुकी है। दुनिया भर में यह देखा गया है कि जिस भी प्रांत में मुस्लिम आबादी 40 प्रतिशत से अधिक हो जाती है, वहाँ पर विभाजन की समस्या उत्पन्न हो जाती है। जैसा कि 1947 में भारत के साथ हो चुका है।

    15 अगस्त 1947 में किसी भी प्रकार की जनगणना नहीं की गई थी, तो सटीक आंकड़े प्राप्त करना बहुत मुश्किल है, यह पूरी रिपोर्ट समाचारों, पुराने लेखों और आंकड़ों के आधार पर बनाई गई है, जो अनुमानित है लेकिन कुछ मायनों में सटीक भी है।

    India Population 1947 Muslim – 3,30,00,000

    CountryIndia
    ReligionMuslim
    Population3,30,00,000
    Year1947
    Percentage10%
    India Population 1947 Muslim

    स्पेशल फ़ैक्ट – 15 अगस्त 1947 को भारत की जनसंख्या से जुड़े

    भारतीय स्वतंत्रता विधेयक, जो भारत और नए बने पाकिस्तान को पूर्व ब्रिटिश साम्राज्य से आज़ाद करके स्वतंत्र राष्ट्रों का दर्जा देता है, 15 अगस्त 1947 की आधी रात को लागू हुआ था। लंबे समय से प्रतीक्षित इस समझौते ने भारतीय महाद्वीप में 200 साल के ब्रिटिश शासन को समाप्त कर दिया और जिसका यहाँ के लोगों द्वारा स्वागत किया गया।

    संबंधित जानकारी :  15 अगस्त 1947 को कौन सा दिन था (15 August 1947 Ko Kaun Sa Din Tha)

    19वीं शताब्दी तक, ग्रेट ब्रिटेन उपमहाद्वीप पर प्रमुख राजनीतिक शक्ति बन गया था और भारत को ब्रिटिश साम्राज्य के “मुकुट में गहना” के रूप में देखा जाता था। ब्रिटिश भारतीय सेना ने दोनों विश्व युद्धों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। मोहनदास गांधी और जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में ब्रिटिश शासन के वर्षों के अहिंसक प्रतिरोध के परिणामस्वरूप अंततः 1947 में भारतीय स्वतंत्रता प्राप्त हुई।

    उपमहाद्वीप के विभाजन से पहले और बाद में दो अलग-अलग राष्ट्रों – भारत और पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर सांप्रदायिक हिंसा हुई थी। दोनों पड़ोसी देशों ने आजादी के बाद तीन युद्ध लड़े हैं, जिनमें से आखिरी युद्ध 1971 में हुआ था और इसके परिणामस्वरूप पूर्वी पाकिस्तान बांग्लादेश एक अलग राष्ट्र बन गया था।

    15th August 1947 India Population

    अक्सर हमारे मन में सवाल आता है कि 15 अगस्त 1947 को भारत की जनसंख्या कितनी थी, क्योंकि 1947 का यह साल हमारे देश के इतिहास को रचने की शुरुआत भर था। इस दिन हमारा देश पूरी तरह से स्वतंत्र हुआ। आजाद भारत के इस शुक्रवार को सिर्फ इसी वजह से याद नहीं किया जाता है.

    आज के समय में जो साम्प्रदायिक विवाद भारत में हिंदू और मुस्लिम समुदाय के बीच बने हुए हैं, कुछ ऐसे ही विवाद उस समय भारत में हिंदुओं और मुसलमानों के बीच भी थे, जिसके कारण मुस्लिम समुदाय की ओर से देश के विभाजन की माँग गई थी। इसके बाद देश का विभाजन हुआ और उस समय के संयुक्त भारत के 76 जिलों को पाकिस्तान और बांग्लादेश के रूप में देश से विभाजित किया गया था, इन ज़िलों की मुस्लिम आबादी 40 प्रतिशत से अधिक थी। इसलिए इन्हें पाकिस्तान को देने का फ़ैसला किया गया था.

    भारत के विभाजन ने 1947 में भारत की आबादी (Population) के आँकड़े को काफी हद तक बदल कर रख दिया था। 1941 की जनगणना के अनुसार, उस समय के संयुक्त भारत की आबादी 31,86,60,580 थी, जिसमें आज का पाकिस्तान और बांग्लादेश भी शामिल है.

    1941 में हुई जनगणना के अनुसार 29.4 करोड़ हिंदू, 4.3 करोड़ मुस्लिम और बाक़ी अन्य धर्मों के लोग यहाँ रहते थे। 15th August 1947 को आजादी मिलने और विभाजन के बाद देश की जनसंख्या के इन आंकड़ों में कई बदलाव हुए थे। 15 अगस्त 1947 को देश की आबादी कितनी थी की पूरी जानकारी आर्टिकल में ऊपर बताई जा चुकी है.

    आशा है आपको यह जानकारी “15 अगस्त 1947 को देश की आबादी कितनी थी (15th August 1947 India Population)” पसंद आई होगी। ऐसी ही जानकारी के लिए इस पोर्टल Career Alert के साथ जुड़ें रहें और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में जरुर शेयर करें।

    Spread the love by sharing this article :-

    Content is protected by the DMCA.