News

Rajasthan Schools Reopening News in Hindi : 18 जनवरी से राजस्थान में फिर से खुलने वाले हैं स्कूल और कॉलेज

Rajasthan Schools Reopening News in Hindi : राजस्थान सरकार की तरफ़ से मंगलवार को जारी किए गए एक आधिकारिक बयान के अनुसार, Covid-19 लॉकडाउन के कारण लगभग नौ महीने तक बंद रहने के बाद स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान 18 जनवरी से राजस्थान में फिर से खुलेंगे।

Rajasthan Schools Reopening News in Hindi
Rajasthan Schools Reopening News in Hindi

9वीं से 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने का निर्णय लिया जा चुका है। इसके अलावा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा एक समीक्षा बैठक के दौरान कॉलेजों, कोचिंग संस्थानों और सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों को फिर से खोलने का निर्णय भी लिया गया है।

मेडिकल कॉलेज, डेंटल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज और पैरामेडिकल कॉलेज को कोविड-19 टीकाकरण को ध्यान में रखते हुए 11 जनवरी से फिर से खोलने का निर्देश दिया जा चुका है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि फेस मास्क का उपयोग करने सहित सामाजिक दूरी और अन्य स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का सभी संस्थानों में ध्यान रखा जाना चाहिए। खुलने वाले सभी स्कूल, कॉलेज में कोविड-19 दिशा-निर्देशों का पालन किया जाना अनिवार्य होगा।

राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए राज्य में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा करने के बाद स्कूल और कॉलेजों को खोलने का निर्णय लिए हैं।

उन्होंने कहा कि देश और राज्य में कोविड-19 के नए मामले अब कम हो रहे हैं, लेकिन अभी चिंताजनक हैं। इसके प्रति किसी भी तरह की लापरवाही एक बड़ा संकट पैदा कर सकती है। इसे देखते हुए, इस वायरस से प्रभावित अन्य देशों से राज्य में आने वाले यात्रियों पर विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि नए वायरस के कारण, इंग्लैंड में एक भयानक स्थिति पैदा हो गई है और लॉकडाउन को फिर से लागू कर दिया गया है। गहलोत ने कहा – यूके से सबक लेते हुए, राजस्थान में अभी एहतियात बरती जानी चाहिए।

इसे भी पढ़ें :  MP Board Exam / Admit Card, some students were worried about not getting the roll number, some things you should know about MP Board Exam

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में कोरोनो वायरस की स्थिति लोगों के सहयोग और बेहतर प्रबंधन के वजह से नियंत्रण में है। उन्होंने आगे कहा कि कोविड-19 रिकवरी दर 96.31 फीसदी के उच्च स्तर पर पहुंच गई है।

गहलोत ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि राज्य में टीकाकरण की तैयारी एक मिशन मोड में पूरी हो।

मुख्यमंत्री ने कहा – स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के पूरे डेटाबेस को टीकाकरण के लिए जल्द से जल्द अपलोड किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि टीका के बारे में केवल प्रामाणिक और ठोस जानकारी मीडिया में प्रसारित की जानी चाहिए। असत्यापित जानकारी लोगों के बीच अनावश्यक गलतफहमी पैदा कर सकती है।

इसी बीच अब 18 जनवरी से राजस्थान में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग फिर से शुरू हो रही हैं। इसके साथ सभी को कोविड-19 के दिशानिर्देशों का पालन करना बहुत ज़रूरी है। अभी तक कोविड-19 के लिए वैक्सीन नही आई है। वैक्सीन आने के बाद भी कुछ समय तक सभी को सतर्कता बरतनी होगी, नही तो कोरोना के केस देश में बढ़ सकते हैं।

यह हमारा दायित्व है कि हम ख़ुद की सुरक्षा के साथ देश में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के लिए ज़िम्मेदार ना बनें। इसलिए सरकार द्वारा कोविड-19 के लिए जो सुरक्षा गाइडलाइन जारी की गई है, उसका हमें पालन करना चाहिए।

हमें फ़ेसमास्क लगाने के साथ भीड़-भाड़ वाली जगह में जाने से बचना चाहिए और समय समय पर हैंडवास से अपने हाथ साफ़ करने चाहिए।

You cannot copy content of this page

error: Content is Protected by DMCA. आपकी गतिविधियों को हमारे एआई सिस्टम द्वारा ट्रैक किया जा रहा है। Your activities are being tracked by our AI System.