Skip to content
Home » सबसे ठंडा ग्रह कौन सा है | Sabse Thanda Grah Kaun Sa Hai

सबसे ठंडा ग्रह कौन सा है | Sabse Thanda Grah Kaun Sa Hai

    पृथ्वी के उत्तरी ध्रुव के चारों ओर की बर्फ़ सिकुड़ रही है, लेकिन सौर मंडल में बहुत से अन्य ग्रह हैं जहाँ वह बर्फ़ और ठंड बढ़ रही है। यहां हम सौर मंडल का सबसे ठंडा ग्रह कौन सा है (Sabse Thanda Grah Kaun Sa Hai) के साथ सौर मंडल के सबसे अधिक कंपकंपी पैदा करने वाले ग्रहों यानी टॉप 10 ठंडें ग्रहों के बारे में बताएँगे। अगर आप जानना चाहते हैं कि हमारे सौर मंडल का सबसे ठंडा ग्रह कौन सा है, तो इस लेख को पूरा पढ़ें।

    सबसे ठंडा ग्रह कौन सा है | Sabse Thanda Grah Kaun Sa Hai

    हमारे सौर मंडल का 7वां ग्रह सबसे ठंडा है, जिसका नाम यूरेनस है। यूरेनस को हिंदी में अरुण ग्रह के नाम से जाना जाता है। सबसे ठंडा ग्रह यूरेनस आकार में पृथ्वी से 63 गुना बड़ा है और अपने छल्लों की वजह से खूबसूरत भी लगता है। सूर्य से अत्यधिक दूरी की वजह से यूरेनस पर सूर्य की रोशनी बहुत कम पहुँचती है इसी वजह से यह ग्रह हमारे सौर मंडल का सबसे ठंडा ग्रह है

    पृथ्वी से सूर्य की दूरी लगभग 15 करोड़ किलोमीटर की है, जबकि यूरेनस से सूर्य की दूरी लगभग 3 अरब किलोमीटर है। सौरमंडल के ग्रहों में आकार के मामले में यह ग्रह तीसरे नम्बर पर है। सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति है और उसके बाद शनि बड़ा ग्रह है।

    हमारे सौरमंडल के 4 ग्रहों में ज़्यादा गैस होने की वजह से इन्हें गैस दानव भी कहा जाता है। इसमें शामिल हैं – बृहस्पति, शनि और यूरेनस। यहाँ पर पानी की बर्फ भी बहुत अधिक है। इसके अलावा अमोनिया और मीथेन गैस की बर्फ भी है। अत्यधिक गैस होने की वजह से यहाँ का तापमान शून्य से माइनस 224 डिग्री सेंटीग्रेड के नीचे रहता है।

    यूरेनस का वजन धरती से 14.5 गुना अधिक है। इसका गुरुत्वाकर्षण धरती से 10 % कम है। इस Sabse Thanda Grah में गैस अधिक है और पत्थर कम हैं। इस सबसे ठंडा ग्रह में केवल 25 प्रतिशत ही पत्थर हैं। बाक़ी का 60 से 70 प्रतिशत बर्फ़ है जबकि केवल 5 से 15 प्रतिशत हाइड्रोजन और हीलियम गैस होने का अंदाज़ा है।

    यूरेनस पर हवा की गति 900 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच जाती है। ग्रह के घूर्णन की उल्टी दिशा में बहने से हवाएं भूमध्य रेखा पर प्रतिगामी होती हैं। लेकिन ध्रुवों के करीब, हवाएं यूरेनस के घूमने के साथ बहती हुई एक प्रतिगामी दिशा में चली जाती हैं।

    यूरेनस (सबसे ठंडा ग्रह) की जानकारी

    भूमध्यरेखीय व्यास51,118 किलोमीटर
    ध्रुवीय व्यास49,946 किलोमीटर
    द्रव्यमान8.68 × 10^25 किग्रा (15 पृथ्वी के बराबर)
    चन्द्रमा की संख्या27
    प्रमुख चन्द्रमा के नाममिरांडा, टाइटेनिया, एरियल, उम्ब्रील और ओबेरॉन
    रिंग13
    कक्षा दूरी2,870,658,186 किलोमीटर (19.22 एयू)
    कक्षा अवधि30,687 दिन (पृथ्वी के 84 वर्ष के बराबर)
    सतह का सामान्य तापमान-197 डिग्री सेल्सियस
    खोज की तारीख़13 मार्च 1781
    खोजकर्ताविलियम हर्शल

    यूरेनस सूर्य की परिक्रमा कितने दिन में पूरी करता है

    हमारी पृथ्वी लगभग 365 दिनों में सूर्य का एक चक्कर पूरा कर लेती है, इसीलिए एक वर्ष 365 दिनों का होता है। जबकि यूरेनस को सूर्य का चक्कर लगाने में पृथ्वी के 84 साल के बराबर का समय लगता है। इसलिए यहाँ का एक साल पृथ्वी के 84 साल के बराबर माना जाता है।

    यूरेनस (सबसे ठंडा ग्रह) में कितनी चंद्रमा हैं

    हमारे सौर मंडल के सबसे ठंडे ग्रह यूरेनस में के पास कुल 27 चंद्रमा (उपग्रह) हैं। इसके सबसे बड़े चंद्रमा (उपग्रह) का नाम है टाइटेनिया है। इसके अलावा मिरांडा, एरियल, अम्ब्रियल, ओबोरॉन आदि इसके कुछ प्रमुख उपग्रह (चाँद) हैं।

    यूरेनस (Sabse Thanda Grah) की खोज कब हुई थी

    यूरेनस की खोज 13 मार्च 1781 में हुई थी। पहले इसे ग्रह की बजाय टिमटिमाता तारा माना जाता था। 13 मार्च 1781 के बाद ही इसे ग्रह माना गया था।

    सौर प्रणाली में सबसे ठंडा स्थान | Coldest Place in The Solar System

    सौर प्रणाली में सबसे ठंडा स्थान (Coldest Place in The Solar System) : नासा के लूनर टोही ऑर्बिटर ने चंद्रमा के उत्तरी ध्रुव के पास हर्मिट क्रेटर के अंदर -248 डिग्री सेल्सियस (-415 डिग्री फ़ारेनहाइट) का तापमान मापा था और हमारे सौर मंडल में सबसे ठंडे स्थान के लिए रिकॉर्ड स्थापित किया था। यहां तक कि प्लूटो भी का तापमान भी इससे कम है। इसलिए हर्मिट क्रेटर को सौर प्रणाली में सबसे ठंडा स्थान माना जाता है। हर्मिट क्रेटर की फ़ोटो नीचे दी गई है। Source – NASA

    सौर मंडल के 10 सबसे ठंडे ग्रह | Saur Mandal ke 10 Sabse Thanda Grah

    धरती में अभी तक का सबसे न्यूनतम तापमान वर्ष 2018 में मध्य अंटार्कटिका के एक स्थान पर सर्दी के मौसम में -97.8°C दर्ज किया गया है। अगर हम सौरमंडल के सबसे ठंडे ग्रहों की बात करें तो धरती का न्यूनतम तापमान उनके सामने शून्य के बराबर है क्योंकि हमारे सौर मंडल के 8 ग्रहों में सबसे ठंडा ग्रह है- ‘अरुण‘ (Uranus)। इसमें सबसे कम तापमान -224°C दर्ज किया गया है। यूरेनस सूर्य से 2.9 अरब किलो मीटर की दूरी पर है। यहाँ सूर्य के प्रकाश को पहुंचने में 2 घंटे 40 मिनट का समय लगता है।

    अब आइए जानते हैं सौर मंडल के 10 सबसे ठंडें ग्रह कौन से हैं :

    Mars (मंगल)

    मंगल के उत्तरी ध्रुवीय क्षेत्र दुनिया के सबसे ठंड वाले स्थानों में से एक हैं। पिछले साल, नासा के फीनिक्स मार्स लैंडर ने मंगल के उत्तरी वास्तितास बोरेलिस क्षेत्र (Mars Northern Vastitas Borealis Region) में बर्फ गिरने का अवलोकन किया, जहां यह पानी की बर्फ की तलाश में सतह के नीचे खुदाई करने के लिए 25 मई, 2008 को उतरा था।

    लैंडर की रोबोटिक भुजा द्वारा खोदी गई खाइयों ने वास्तव में सतह के नीचे बर्फ को उजागर किया था और लाल ग्रह पर पानी के इतिहास पर अधिक प्रकाश डाला। मामूली बर्फबारी के अलावा, फीनिक्स ने अपने चारों ओर मंगल ग्रह की सतह पर ठंढ (बर्फ़) का गठन देखा क्योंकि उत्तरी गोलार्ध में सर्दी शुरू हो गई थी।

    Titan (टाइटन)

    ऐसा माना जाता है कि तरल मीथेन और ईथेन की झीलें अंटार्कटिका की तुलना में अधिक ठंडे वातावरण में शनि के इस चंद्रमा के परिदृश्य को दर्शाती हैं। लेकिन इसकी समग्र ठंडी स्थिति के बावजूद, टाइटन पर हवा, बारिश और टेक्टोनिक प्रक्रियाएं इसे सौर मंडल में पृथ्वी के निकटतम एनालॉग्स में से एक बनाती हैं। जबकि उपग्रह की सतह का औसत तापमान शून्य से -180 सेल्सियस रहता है।

    Enceladus (एन्सेलाडस)

    इसकी सतह पर वर्षा की बारिश के बजाय, शनि के सबसे ठंडे चंद्रमा एन्सेलेडस में गैसीय पानी के गीजर हैं जो इसकी सतह पर फूटते हैं – एक प्रक्रिया जिसे क्रायोवोल्केनिज्म कहा जाता है। कुछ लोगों का तर्क है कि शनि के इस चंद्रमा में बहने वाले पानी के क्षेत्र में बर्फीली सतह की परत हो सकती है, जबकि अन्य का तर्क है कि यह ठोस है और चट्टानों का एक ठंडा चाँद है।
    Europa (यूरोपा)

    बृहस्पति का चंद्रमा यूरोपा भी एक बर्फीली दुनिया है, जिसके नीचे संभावित तरल जल महासागर के साथ पानी की बर्फ लगभग माइनस 300 डिग्री फ़ारेनहाइट, या माइनस 184 सेल्सियस के तापमान पर हो सकती है।

    Uranus – सौर मंडल का सबसे ठंडा ग्रह

    सूर्य से सातवां ग्रह और सौरमंडल के चार गैस दिग्गजों में से एक, यूरेनस को कभी-कभी पड़ोसी नेपच्यून के साथ “आइस जाइंट्स” नामक श्रेणी में रखा जाता है। यूरेनस का वायुमंडल – हाइड्रोजन, हीलियम और पानी, अमोनिया और मीथेन बर्फ से बना है। सौर मंडल के किसी भी ग्रह का सबसे ठंडा तापमान है, जिसमें न्यूनतम तापमान -371 डिग्री फ़ारेनहाइट (शून्य से 224 डिग्री सेल्सियस कम) है।

    Pluto (प्लूटो)

    इस साल की शुरुआत में, वैज्ञानिकों ने देखा कि प्लूटो का वातावरण पहले की तुलना में गर्म है। Pluto ग्रह की सतह के ऊपर की हवा अभी भी -292 डिग्री फ़ारेनहाइट (-180 डिग्री सेल्सियस) है, जबकि इसकी सतह का तापमान -364 डिग्री फ़ारेनहाइट (-220 डिग्री सेल्सियस) है। 2006 में ग्रह की स्थिति से अपनी अवनति के बाद से, प्लूटो को कुइपर बेल्ट ऑब्जेक्ट्स के रूप में जाने जाने वाले निकायों के एक वर्ग के साथ समूहीकृत किया गया है जो कि सूर्य से पृथ्वी तक 100 गुना की दूरी तक फैला हुआ है।

    Space Itself (अंतरिक्ष खुद ही बहुत ठंडा है)

    ऊपर बताए गए सभी ग्रह और चंद्रमा पृथ्वी पर किसी भी स्थान की तुलना में बहुत अधिक ठंडें हैं। अंतरिक्ष में सबसे ठंडे स्थानों में से एक अंतरिक्ष ही है। ब्रह्मांड में व्याप्त ब्रह्मांडीय माइक्रोवेव पृष्ठभूमि विकिरण (और सैद्धांतिक बिग बैंग की अवशेष ऊर्जा है) का तापमान 2.725 डिग्री केल्विन यानी शून्य से 455 डिग्री फ़ारेनहाइट या शून्य से 270 डिग्री सेल्सियस कम है।

    Planck Spacecraft (प्लैंक स्पेसक्राफ़्ट)

    अंतरिक्ष में सबसे ठंडा ज्ञात स्थान बर्फीले धूमकेतु या यहां तक कि अंतरिक्ष भी नहीं है, बल्कि कुछ मानव निर्मित है : यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी का प्लैंक स्पेसक्राफ्ट। अपने अंतिम परिक्रमा बिंदु के रास्ते में – जहां यह सैद्धांतिक बिग बैंग के अवशेष विकिरण का निरीक्षण करेगा। Planck Spacecraft शून्य से 459.49 डिग्री फ़ारेनहाइट (शून्य से 273.05 सेल्सियस कम) के अपने ऑपरेटिंग तापमान तक ठंडा हो गया। यह तापमान परम शून्य से सिर्फ 0.1 सेल्सियस ऊपर है, जो हमारे ब्रह्मांड में सैद्धांतिक रूप से संभव सबसे ठंडा तापमान है।

    Moon’s Polar Craters (चंद्रमा के ध्रुवीय क्रेटर)

    सौर मंडल में ज्ञात सबसे ठंडा (प्राकृतिक) स्थान बर्फीले कुइपर बेल्ट में परिक्रमा करने वाली कोई दूर की वस्तु नहीं है, बल्कि यह सूर्य के बहुत करीब है। सितंबर में, नासा के नए लूनर रीकॉन्सेन्स ऑर्बिटर ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर स्थायी रूप से छायांकित क्रेटर का तापमान लिया (जहां अक्टूबर में एक क्रेटर को प्रभावित करने के बाद उसके साथ एलसीआरओएसएस जांच में वाटरिस जमा पाए गए। एलआरओ के उपकरणों ने पाया कि क्रेटरों ने पारा को माइनस 397 डिग्री फ़ारेनहाइट (माइनस 238 सेल्सियस) से कम तक गिरा दिया।

    Comets (सौर मंडल के पिंड)

    ये सौर मंडल के पिंड भले ही ठंडे न लगें क्योंकि वे समय-समय पर रात के आकाश में चमकते हैं, लेकिन वे वास्तव में धूल, पानी और चट्टान के टुकड़ों का संग्रह हैं। ये “गंदे स्नोबॉल”, जैसा कि उन्हें कभी-कभी कहा जाता है, सौर मंडल की सबसे बाहरी पहुंच से आते हैं – कुइपर बेल्ट और ऊर्ट क्लाउड। वे अपनी टेल्टेल पूंछ विकसित करते हैं जब उनकी कक्षा उन्हें सूर्य के करीब लाती है और उनमें वाष्पशील पदार्थ सौर विकिरण द्वारा वाष्पीकृत हो जाते हैं- लेकिन बाहरी सौर मंडल में, वे सौर मंडल के गठन से बचे हुए पदार्थ के जमे हुए टुकड़े बने रहते हैं।

    सबसे ठंडा ग्रह के रोचक तथ्य | Sabse Thanda Grah Ke Facts

    • यूरेनस की खोज आधिकारिक तौर पर सर विलियम हर्शल ने 1781 में की थी।
    • यूरेनस हर 17 घंटे 14 मिनट में एक बार अपनी धुरी पर घूमता है।
    • यूरेनस हर 84 पृथ्वी वर्षों में सूर्य के चारों ओर एक चक्कर लगाता है।
    • सौर मंडल के सबसे ठंडे ग्रह यूरेनस को अक्सर “बर्फ के विशालकाय” ग्रह के रूप में जाना जाता है।
    • यूरेनस का तापमान किसी भी अन्य ग्रह के मुक़ाबले सबसे ठंडा होता है।
    • इसमें बहुत पतले गहरे रंग के छल्ले के दो सेट होते हैं।
    • यूरेनस के चंद्रमाओं का नाम विलियम शेक्सपियर और अलेक्जेंडर पोप द्वारा बनाए गए पात्रों के नाम पर रखा गया है।
    • सबसे ठंडे ग्रह के लिए अभी तक केवल एक अंतरिक्ष यान पृथ्वी से भेजा गया है।

    –*– सबसे ठंडे ग्रह यूरेनस (अरुण) से संबंधित सवाल – जवाब –*–

    यूरेनस का रंग नीला क्यों है?

    यूरेनस का वायुमंडल हाइड्रोजन, हीलियम और मीथेन से बना है। जब सूर्य का प्रकाश यूरेनस के वायुमंडल के ऊपरी भाग से होकर गुजरता है, तो वहाँ मौजूद मीथेन गैस सूर्य के लाल रंग के प्रकाश को सोख लेता है तथा नीले रंग के प्रकाश को वापस अंतरिक्ष में बिखेर देता है। इसी कारण से यह ग्राम हमें नीला दिखाई देता है।

    यूरेनस की खोज किसने की थी?

    यूरेनस की खोज खगोल वैज्ञानिक विलियम हर्शेल (William Herschel) द्वारा 13 मार्च, 1781 को की गई थी। उन्होंने इस ग्रह की खोज अपनी खुद की बनाई गई दूरबीन से किया था।

    यूरेनस पर एक दिन कितने घंटे के बराबर होता है?

    सबसे ठंडा ग्रह यूरेनस पृथ्वी की तुलना में अपने अक्ष पर तेजी से घूमता है। इसलिए इस ग्रह का एक दिन पृथ्वी के एक दिन से छोटा होता है। यूरेनस का एक दिन केवल 17.24 घंटे के बराबर होता है।

    सूरज का एक चक्कर लगाने में यूरेनस को कितना समय लगता है?

    यूरेनस को सूर्य का एक चक्कर पूरा करने में पृथ्वी के 84 वर्ष यानी 30,687 दिनों के बराबर का समय लगता हैं। यह अपने परिक्रमा पथ पर 24,607 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से सूर्य का चक्कर लगाता है।

    उन ग्रहों के नाम बताए जो अन्य ग्रहों से उल्टी दिशा में अपने अक्ष पर घूमते हैं?

    हमारे सौरमंडल में शुक्र और यूरेनस दो ही ऐसे ग्रह है, जो अन्य ग्रहों से उल्टी दिशा में घूमते हैं। इन दोनों के अलावा बाक़ी सभी ग्रह पश्चिम से पूर्व की ओर अक्ष पर घूमते हैं जबकि वही शुक्र और यूरेनस पूर्व से पश्चिम दिशा में अक्ष पर घूमते हैं।

    अरूण के वलयों की संख्या कितनी हैं?

    अरूण ग्रह के वलयों की कुल संख्या 13 हैं।

    यूरेनस के उपग्रहों की संख्या कितनी हैं

    यूरेनस के कुल 27 उपग्रह यानी चंद्रमा हैं। इस सबसे ठंडे ग्रह के ज्यादातर उपग्रहों का नाम विलियम शेक्सपियर तथा अलेक्जेंडर पोप की काल्पनिक पात्रों के नाम पर रखा गया हैं। टाईटेनिया और ओबेररान इसके सबसे बड़े उपग्रह हैं।

    यूरेनस का नाम किस प्राचीन देवता से संबंधित है?

    यूरेनस को प्राचीन यूनान के सर्वोच्च देवताओं में से एक माना जाता है, इसलिए इसका नाम प्राचीन यूनान के स्वर्ग के देवता से संबंधित है। ग्रह का यह नाम जर्मन खगोल विज्ञानी Johann Elert Bode द्वारा प्रस्तावित किया गया था।

    सूर्य से सबसे दूर कौन सा ग्रह है

    नेपच्यून सूर्य से सबसे दूर स्थित ग्रह है। यह सूरज से 4.5 अरब किलोमीटर।

    यूरेनस का गुरुत्वाकर्षण कितना है?

    यूरेनस गैसों से बना हैं पृथ्वी की तरह ठोस नहीं नहीं है हालाँकि यह आकार में पृथ्वी से 15 गुना बहुत बड़ा है। इसीलिए विशाल आकार होने के बावजूद यह हल्का है और इसका गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी के सतह के गुरुत्वाकर्षण से कम है। यूरेनस का गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण का 86% है।

    निष्कर्ष (सबसे ठंडा ग्रह कौन सा है | Sabse Thanda Grah Kaun Sa Hai)

    इस लेख में हमने सबसे ठंडा ग्रह कौन सा है (Sabse Thanda Grah Kaun Sa Hai) के बारे में विस्तार से बताया है। आशा करते हैं कि यह जानकारी आपके काम आएगी। इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में ज़रूर शेयर करें।