Skip to content

Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh (MP) : मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं

Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh (मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं) : आज के इस आर्टिकल में हम आपको मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिलों के बारे में बताने वाले हैं। आइए जानते हैं Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh (MP) की लिस्ट 2022 में :-

Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh (मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं

नीति आयोग द्वारा जारी एक हालिया ‘बहुआयामी गरीबी सूचकांक (MPI)’ रिपोर्ट में कहा गया है कि मध्य प्रदेश की एक तिहाई से अधिक जनसंख्या गरीबी में रहती है। इसके साथ ही Madhya Pradesh भारत का चौथा सबसे गरीब राज्य है। इससे ऊपर केवल बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश राज्यों का नाम आता है। मध्य प्रदेश राज्य की लगभग 2.5 करोड़ से अधिक आबादी गरीब है। मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले निम्नलिखित हैं (The following are the 10 poorest districts of Madhya Pradesh) :-

  1. Alirajpur (अलिराजपुर)
  2. Dindori (डिंडौरी)
  3. Sidhi (सीधी)
  4. Barwani (बड़वानी)
  5. Jhabua (झाबुआ)
  6. Mandla (मंडला)
  7. Bhind (भिंड)
  8. Balaghat (बालाघाट)
  9. Morena (मुरैना)
  10. Rewa (रीवा)
संबंधित जानकारी :  CERSAI क्या है, How to Register in CERSAI, CERSAI Full Form - हिंदी में

मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब ज़िलों के बारे में कुछ संक्षिप्त जानकारी नीचे दी गई है।

Alirajpur (अलिराजपुर) : Top 10 Poor District in Madhya Pradesh

इंदौर संभाग के अंतर्गत आने वाला अलिराजपुर ज़िला मध्य प्रदेश का सबसे गरीब ज़िला है। इसका कुल क्षेत्रफल 3182 वर्ग किलोमीटर है। अलिराजपुर ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 44,660 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 8,47,000 के करीब है। Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh की लिस्ट में यह पहले स्थान पर है। अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें : ✪ मध्य प्रदेश का सबसे गरीब जिला कौन सा है?

Dindori (डिंडौरी)

जबलपुर संभाग के अंतर्गत आने वाला डिंडौरी ज़िला मध्य प्रदेश का दूसरा सबसे गरीब ज़िला है। इसका कुल क्षेत्रफल 7,427 वर्ग किलोमीटर है। डिंडौरी ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 40,875 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 8,19,000 के करीब है। मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं की लिस्ट में इसका 9वाँ स्थान है।

Sidhi (सीधी) : Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh

रीवा संभाग के अंतर्गत आने वाला सीधी ज़िला मध्य प्रदेश के सबसे गरीब ज़िलों की लिस्ट में तीसरे स्थान पर है। इसका कुल क्षेत्रफल 10,526 वर्ग किलोमीटर है। सीधी ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 44,555 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 13,09,000 के करीब है। Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh की लिस्ट में यह तीसरे स्थान पर है।

Barwani (बड़वानी) : मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिला

इंदौर संभाग के अंतर्गत आने वाला बड़वानी ज़िला मध्य प्रदेश का चौथा सबसे गरीब ज़िला है। इसका कुल क्षेत्रफल 5,432 वर्ग किलोमीटर है। बड़वानी ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 48,065 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 16,10,000 के करीब है। मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं की लिस्ट में इसका चौथा स्थान है।

संबंधित जानकारी :  Dakshin Bharat Ki Ganga Kise kahate Hain और दक्षिण भारत की गंगा किस नदी को कहा जाता है विकिपीडिया

Jhabua (झाबुआ) : MP Poorest District List

इंदौर संभाग के अंतर्गत आने वाला झाबुआ ज़िला मध्य प्रदेश के सबसे गरीब ज़िलों की लिस्ट में 5वें स्थान पर है। इसका कुल क्षेत्रफल 6,782 वर्ग किलोमीटर है। झाबुआ ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 50,960 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 11,91,000 के करीब है। Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh की लिस्ट में यह 5वें स्थान पर है।

Mandla (मंडला)

जबलपुर संभाग के अंतर्गत आने वाला मंडला ज़िला मध्य प्रदेश का 6वाँ सबसे गरीब ज़िला है। इसका कुल क्षेत्रफल 5,805 वर्ग किलोमीटर है। मंडला ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 51,675 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 12,26,000 के करीब है। मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं की लिस्ट में इसका 6वाँ स्थान है।

Bhind (भिंड) : मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिला

चम्बल संभाग के अंतर्गत आने वाला भिंड ज़िला मध्य प्रदेश के सबसे गरीब ज़िलों की लिस्ट में 7वाँ स्थान है। इसका कुल क्षेत्रफल 4,459 वर्ग किलोमीटर है। भिंड ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 51,885 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 19,80,000 के करीब है। Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh की लिस्ट में यह 7वाँ स्थान है।

Balaghat (बालाघाट) : Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh

जबलपुर संभाग के अंतर्गत आने वाला बालाघाट ज़िला मध्य प्रदेश का 8वाँ सबसे गरीब ज़िला है। इसका कुल क्षेत्रफल 9,229 वर्ग किलोमीटर है। मंडला ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 54,340 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 19,77,000 के करीब है। मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं की लिस्ट में इसका 8वाँ स्थान है।

संबंधित जानकारी :  Vidyut Dhara Ka si Matrak : विद्युत धारा का एस आई मात्रक क्या है

Morena (मुरैना)

चम्बल संभाग के अंतर्गत आने वाला मुरैना ज़िला मध्य प्रदेश के सबसे गरीब ज़िलों की लिस्ट में 9वाँ स्थान है। इसका कुल क्षेत्रफल 4,991 वर्ग किलोमीटर है। मुरैना ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 55,135 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 22,84,000 के करीब है। Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh की लिस्ट में यह 9वाँ स्थान है।

Rewa (रीवा) : मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब जिले कौन से हैं

रीवा संभाग के अंतर्गत आने वाला रीवा ज़िला मध्य प्रदेश का 10वाँ सबसे गरीब ज़िला है। इसका कुल क्षेत्रफल 6,314 वर्ग किलोमीटर है। रीवा ज़िले की प्रति व्यक्ति सालाना आय करीब 56,500 रुपए है। 2022 में यहाँ की कुल जनसंख्या लगभग 27,86,000 के करीब है। Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh की लिस्ट में इसका 10वाँ स्थान है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में मध्य प्रदेश के 10 सबसे गरीब ज़िले कौन से हैं के बारे में कुछ संक्षिप्त जानकारी प्रदान की गई है। आशा करते हैं कि Top 10 Poorest District in Madhya Pradesh की यह जानकारी आपको पसंद आएगी। इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में जरुर शेयर करें।

Spread the love by sharing this article :-